Sunday, March 14, 2010

माँ का आँचल (II)

मैंने अपने नन्हे-नन्हे
हाथ पैरों को फैलाया
और अंगड़ाई लेकर मेरा
किशोर वय बाहर आया-

एक प्रश्न तब भी
कुलबुलाता था..........
और आज भी
सर उठता है----

आखिर.........
मैंने माँ से पूंछ ही लिया ---
"माँ! ये दुनिया कितनी बड़ी है ?"

माँ ने मेरा माथा चूमा,
सिर को गोद में रख लिया,
और बोली- बस! मेरे आँचल से,
थोड़ी-सी छोटी है........

22 comments:

आवेश said...

सिर्फ कविता नहीं है ,ऐसा लगा इसे पढ़कर जैसे माँ की गोद में सर छुपाये बैठा हूँ

संजय भास्कर said...

माँ ने मेरा माथा चूमा,
सिर को गोद में रख लिया,
और बोली- बस! मेरे आँचल से,
थोड़ी-सी छोटी है...

इन पंक्तियों ने दिल छू लिया... बहुत सुंदर ....रचना....

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

भाव पूर्ण अभिव्यक्ति!

संत शर्मा said...

Sundar Abhivyaqti

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

सुंदर रचना के लिए आभार!

महावीर बी सेमलानी

Ashish (Ashu) said...

आह..दिल झूम उठा..सच कहा..शुक्रिया

Mithilesh dubey said...

बेहद सुन्दर व भावपूर्ण रचना लगी , माँ की याद आ गयी जैसे ।

रश्मि प्रभा... said...

masoom sawaal, vistrit jawaab......pyaar kitni bariki se arth batata hai

anubhooti said...

"माँ के आँचल से विस्तृत कुछ और हो ही नहीं सकता "

amritwani.com said...

MA KI YAD AA GAI


SHEKHAR KUMAWAT

shama said...

Kuchh hi din pahleki baat hai..maine aisehi apni maa ki godme sar rakha aur na jane kaise neend lag gayi...itni gahari ki, ek ghante baad hosh aaya...aapki kavitane wo lamhen yaad dila diye..

महेन्द्र मिश्र said...

पढ़कर माँ की याद आ गई ... बढ़िया रचना प्रस्तुति ... आभार

हिमांशु । Himanshu said...

अदभुत भावभरी अभिव्यक्ति ! रचना का आभार ।

संजय भास्कर said...

माँ के आँचल से विस्तृत कुछ और हो ही नहीं सकता "

abhay said...

undar rachna
maa ke anchal ka duniya se kya lena
dena chahti hain hain har khushi maa apne baccho ko
duniya to hain bus bus kuch pal ki raina

कमलेश वर्मा said...

sunder lekhan...sunder abhivkti

saloni said...

bahut sundar

mridula pradhan said...

bahut sunder kavita.

अरुणेश मिश्र said...

अद्भुत ।

क्रिएटिव मंच-Creative Manch said...

BAHUT KHOOB

chhiti si kavita men kitna kuchh ...

aabhaar
shubh kamnayen

mridula pradhan said...

bahut hi sunder.

अनूप शुक्ल said...

अद्भुत! अद्भुत!

IndiBlogger.com

 

Text selection Lock by Hindi Blog Tips

BuzzerHut.com

Promote Your Blog