Saturday, January 3, 2009

आंसू...

मैं बहुत छोटा हूँ
फ़िर भी मैं जानता हूँ
तुम कब दुखी हो
और कब खुश

जब भी तुम दुखी होते हो,
और सिसकियों से
तुम्हारा गला रुंध जाता है,
मैं तुम्हे संभालने के लिए
दौड़ता हूँ
तो गिर पड़ता हूँ

जब तुम खुश होती हो,
मैं भी खुश होता हूँ
और उछलने लगता हूँ.
कभी कभी तो एक पलक से,
दूसरी पलक तक
दौड़ लगाता हूँ
और दौड़ते हुए,
पता ही नही चलता,
कब तुम्हारे होंठों की
मुस्कराहट तक जा पहुँचता हूँ.

मैं तुम्हारे सुख और दुःख
दोनों का साथी हूँ.
तुम्हारी आँख का आंसू!

41 comments:

रश्मि प्रभा said...

आंसू किसी बच्चे की मानिंद आँखों में उतरता लगा है,
मासूमियत लिए साथ रहता है,
फिर एक प्यारी मुस्कान बन जाता है,
बहुत सही चित्रण किया है ..........

ρяєєтι said...

आँसु --- दुःख में तो आते ही है, सुख मैं भी दामन भिगो जाते है ...
बहोत ही सुन्दर चित्रण किया है आपने आँसुओ का ...

hem pandey said...

'मैं तुम्हारे सुख और दुःख
दोनों का साथी हूँ.
तुम्हारी आँख का आँसू !'
- सुंदर !

Dr. Vijay Tiwari "Kislay" said...

ज्योत्स्ना जी
अभिवंदन
"आँसू" दुखी होने पर दुख के प्रतीक और खुश होने पर खुशी के प्रतीक होते हैं बशर्ते वे निश्छल बहें, अन्यथा मगर मच्छ के आँसू भी होते हैं. लेकिन अज के बदलते परिवेश में आँसुओं के टपकने को देखने की किसे फुर्सत है.....
तारा टूटते सब ने देखा, ये नहीं देखा एक ने भी.
किसकी आँख से आँसू टपका , किसका सहारा टूटा .

आपका
-विजय

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

आँसू का खूब मानवीय करण किया है आप ने। अच्छी कविता।

पर ये वर्ड वेरी फिकेशन हटाएँ। टिप्पणी में बाधा पैदा करता है।

सुनील मंथन शर्मा said...

bahut sundar.

Shashank Pandey's Blog said...

bahut sundar rachna!!!
ADVITEEY!
NIHSHABDA!

maverick said...

bahut hi sundar likha he mam.....
bahut hi achcha thought he

dr. ashok priyaranjan said...

भाव और िवचार की दृषटि से अच्छी रचना है । प्रभावशाली शब्दावली ने अभिव्यक्ति को प्रखर बना दिया है ।

http://www.ashokvichar.blogspot.com

Pankaj Upadhyay said...

wah wah ....maine jitna bhi aapko padha hai, aapka best work hai ye..

choo gayi bas..bahut badhiya

हिमांशु said...

आंसू का सम्मोहन सा बन गया है, यह कविता पढ़कर. मानवीकृत आंसू अच्छा लगा. धन्यवाद.

डॉ .अनुराग said...

पहले लगा की शायद आप नन्हे बेटे की बात कर रही है...आख़िर में आंसू नजर आया .भावो की आपकी अभिव्यक्ति की ये अदा भी निराली है

राममोहन said...

thanks, jyotsna ji
abhi blog ki duniya main kadam rakha hai.

Amit said...

bahut hi accha likha hai aapne....kaafi accha laga padh kar....

Indo Can American said...

I donot have Hindi fonts, but I read Hindi I believe almost after 23 years. Padh kar laga ki I am back in school. Felt really good.

Udan Tashtari said...

मैं तुम्हारे सुख और दुःख
दोनों का साथी हूँ.
तुम्हारी आँख का आँसू .....

-बहुत सुन्दर भाव!! वाह!!

बहुत शुभकामनाऐं.

गिरीश बिल्लोरे "मुकुल" said...

बेहद प्रभावी
सादर
शुभकामनाओं सहित
व्हेरिफिकेशन हटाइये जी

प्रदीप मानोरिया said...

आंसू के बारे मैं आपका गहरा चिंतन सुंदर शब्द प्रवाह से रची रचना मैं बहुत सुंदर है ... आपका बहुत बहुत धन्यबाद

Dr. RAMJI GIRI said...

बहुत ही सहज और सुन्दर भावः मिले यहाँ पर...

Harsh pandey said...

bihari ka kahana tha " satsaiya ke dohare , jyu navik ke teer. dekhan me chote laage ghaav karein gambheer .
iska abas aapki kavitao se ho jata hai . happy new year

AJAY AMITABH SUMAN said...

nice poem

आकांक्षा~Akanksha said...

......अद्भुत, भावों की सरस अभिव्यंजना. कभी हमारे 'शब्दशिखर' www.shabdshikhar.blogspot.com पर भी पधारें !!

अखिलेश शुक्ल said...

Respected Jyotsna Ji
your poem is nice. I am an editor of katha chakra hindi literature patrika. if like details about it pls read http://katha-chakra.blogspot.com
thanks akhilesh

chopal said...

देखा जाए तो आंसू ही मनुष्य का सच्चा साथी है। खुशी हो या दुख आंखें ही सबसे ही पहले गीली हो जाती हैं आंसू से।
अगर आप वर्ड वेरिफिकेशन हटा दें तो टिप्पणी करने में आसानी होगी।
merichopal.blogspot.com

अर्कजेश *Arkjesh* said...

आंसू भावनाओं के अतिरेक हैं ,
सुख और दुःख दोनों के
यह हमारी संवेदनशीलता से उपजते हैं,
और अभी आपकी कलम से बाहर निकले हैं.

मेरे ब्लॉग पर आने का शुक्रिया !

chikitsak said...

आपकी रचनाएं अत्यन्त मर्मस्पर्शी व सुन्दर हैं। रचनाओं में गहन अवगाहन से आपकी विचारशीलता की गहनता प्रकट होती है। शब्द प्रयोग अत्यन्त उच्च कोटि के हैं, व अभिव्यक्ति श्रेष्ठ। एक बार आपका blog खोलने के पश्चात् समस्त रचनाएं पढ़ कर ही सन्तोष प्राप्त हुआ।

PREM SAGAR SINGH said...

ज्योत्स्ना जी
अभिवंदन,
आपकी अभिव्यक्ति बहुत सुंदर है. हम जैसे लोग जिनका वास्ता जंगल एवं वन्यजन्तुयों से रहता है. ऐसे में आपकी रचना सुकून पहुंचती है.

आनंदकृष्ण said...

एक समर्थ और सार्थक अभिव्यक्ति के लिए सिर्फ़ बधाई काफी नहीं होती..... आपका लेखन फले-फूले और आपके शब्दों को नित नए अर्थ और रूप मिलें यही शुभ कामना है.

मेरे ब्लॉग पर भी पधारें.
http://www.hindi-nikash.blogspot.com

सादर-
आनंदकृष्ण, जबलपुर

सागर said...

सुंदर...अति सुंदर !
कुछ ऐसे ही आंसू मेरे ब्लॉग पर भी जमा हैं....
चाहें तो संवेदना के स्पर्श से अनुभव कर लें !

http://sagarnaama.blogspot.com/

Reetesh Gupta said...

क्या बात है !..बहुत ही खूबसूरत तरीके से आपने कही अपनी बात...बधाई

VaRtIkA said...

wow di.... aapki ye rachnaa sach mein aansu dwaara aapko likha gaya ek pyaar bhara patr hai... bahut hi sunder tareeke se ukeri hain aapne aansu ki sanvednaein...

himanshu said...

itni sahaz vyakhya aansoon ki isase pehle nahi padhi thi.......

Anand Mohan said...

aansu kab nikal pade aankh bhi nahin jaanti

ND Pandey's Blog said...

ईश्वर की अद्भुत देन .....
सुख-दुखे समेकृत्वा.....

Bhartiya Rashtravaad said...

Beautiful poem, really.

विकास कुमार 'सपन' said...

बहुत सुन्दर पंक्तियाँ हैं. आंसू का चित्र बहुत कम शब्दों में बहुत अच्छा लगा.

lankaflorist said...

Send Gifts to Srilanka, Flowers to Srilanka, Cakes and Chocolates to Sri Lanka and Colombo.
http://www.lankaflorist.com

flowers said...

 Gifts to Hyderabad, Flowers to Hyderabad, Cakes to Hyderabad,Same Day delivery all over Hyderabad
http://www.hyderabadonlinegifts.com

sa said...

AV,無碼,a片免費看,自拍貼圖,伊莉,微風論壇,成人聊天室,成人電影,成人文學,成人貼圖區,成人網站,一葉情貼圖片區,色情漫畫,言情小說,情色論壇,臺灣情色網,色情影片,色情,成人影城,080視訊聊天室,a片,A漫,h漫,麗的色遊戲,同志色教館,AV女優,SEX,咆哮小老鼠,85cc免費影片,正妹牆,ut聊天室,豆豆聊天室,聊天室,情色小說,aio,成人,微風成人,做愛,成人貼圖,18成人,嘟嘟成人網,aio交友愛情館,情色文學,色情小說,色情網站,情色,A片下載,嘟嘟情人色網,成人影片,成人圖片,成人文章,成人小說,成人漫畫,視訊聊天室,a片,AV女優,聊天室,情色,性愛

flower said...

 Gifts to India, Flowers to India, Cakes to India,Same Day delivery all over india
 http://www.indiaflowermall.com

garima said...

Gifts to goa, Flowers to goa, Cakes to goa,Same Day delivery all over goa
http://www.goaonlinegifts.com

IndiBlogger.com

 

Text selection Lock by Hindi Blog Tips

BuzzerHut.com

Promote Your Blog